बुजुर्ग महिला ने कोर्ट में लगाई इंसाफ की गुहार लिया स्टे

198 0

ब्रह्मपुरी में अवैध निर्माण के विरुद्ध बुजुर्ग महिला ने कोर्ट में लगाई इंसाफ की गुहार लिया स्टे

नौशाद अली हरिद्वार

जहां केंद्र सरकार महिलाओं को पुरुषों के बराबर अधिकार सम्मान के नारे लगाकर जनता को जागरूक करने में लगे हैं वही सरकार के आलाधिकारी ही महिलाओं को पुरुषों के बराबर अधिकार की धज्जी उड़ाते दिखाई दे रहे हैं। मामला जनपद हरिद्वार का है जहां एक विधवा बुजुर्ग महिला इंसाफ के लिए दर-दर की ठोकरे खाने को मजबूर है। बंगाली बस्ती ब्रह्मपुरी मंसा देवी मार्ग पर निवास करने वाली लक्ष्मी वर्मा लगभग 70 वर्ष ने विकास प्राधिकरण, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, सिटी मजिस्ट्रेट को प्रार्थना पत्र देकर अवगत करा चुकी है कि मेरे मकान के सामने दक्षिण दिशा की ओर एक चार फीट का रास्ता है रास्ते के पश्चिम की ओर कुसुम पत्नी ओम प्रकाश ने अपने मकान का साडे तीन फीट का एक छज्जा अवैध ढंग से प्रथम मंजिल पर कर द्वितीय मंजिल पर भी छज्जे का आकार बढ़ाया जा रहा है। जिससे हमारे मकान में आने वाली हवा और प्रकाश के साथ साथ मकान की खिड़की ढक दी गई है। कमरो में घुटन का वातावरण पैदा हो गया है। उन्होंने बताया कि मेरे मकान का वर्ष 1983 में नियत प्राधिकारी द्वारा नक्शा पास है परंतु कुसुम के मकान का कोई भी नक्शा पास नहीं है विकास प्राधिकरण की शर्तो और नियमों का उल्लंघन कर अवैध निर्माण कार्य किया जा रहा है। मेरे द्वारा आपत्ति करने पर कुसुम के पति व पुत्र मेरे साथ मारपीट भी कर चुके है और जान से मारने की धमकी भी दी जा रही है पीड़ित बुजुर्ग महिला लक्ष्मी वर्मा ने बताया कि आलाधिकारियों को अवैध निर्माण की लिखित जानकारी देकर अवगत कराया जा चुका है लेकिन किसी भी अधिकारी ने दबंगो पर कोई भी ठोस कार्रवाई नहीं की है लगातार अधिकारियों से अवैध निर्माण रूकवाने की गुहार लगाई, इसके विपरीत अधिकारियों से आश्वासन के सिवा कुछ नहीं मिला है और दबंग लोग लगातार अवैध निर्माण करने में लगे हुए हैं। उन्होंने बताया कि कोर्ट का दरवाजा खटखटाने के बाद अवैध निर्माण का स्टे ऑर्डर लाये है लेकिन स्टे ऑर्डर की भी प्रशासन तथा दबंगों द्वारा धज्जियां उड़ाई जा रही है। उन्होंने बताया कि हरिद्वार कोतवाली से पुलिस ने मौके पर आकर अवैध निर्माण को रुकवा दिया था लेकिन पुलिस के जाते ही दबंगों ने अवैध निर्माण फिर से शुरू कर दिया है। वहीं बुजुर्ग महिला की पुत्री कंचन वर्मा ने बताया कि हम सात बहनें है हमारा कोई भाई ना होने के कारण लगातार दबंग लोग हमें पीड़ित करते आ रहे हैं। और जोर जबरदस्ती के साथ अवैध निर्माण करने में लगे हुए है जिसकी गुहार लगातार आलाधिकारियों से लगाई जा रही है लेकिन आलाधिकारी भी कुंभकरण की नींद सो चुके हैं और कोट के आदेश की अवहेलना करने में लगे हैं। उन्होंने बताया कि दबंग लोगों ने अपने घर के दरवाजे के सामने देवदत्त परदेसी न्यायाधीश नेम बोर्ड लगा रखा है जिसका फायदा उठाकर कर लगातार अवैध निर्माण को अंजाम दिया जा रहा है। और न्यायधीश नेम बोर्ड लगाकर प्रशासन को भी गुमराह किया जा रहा है उन्होंने प्रशासन से गुहार लगाते हुए अवैध निर्माण करने वाले दबंग लोगो के विरुद्ध कार्रवाई की मांग की है। आपको बता दें कि ब्रह्मपुरी मनसा देवी रोड पर अवैध निर्मााण का बड़े पैमाने पर खेल खेला जा रहा है। यह क्षेत्र बड़ी बड़ी पहाड़ियों से घिरा हुआ है और पहाड़ियों के नीचे अवैध तरीके से निर्माण प्रगति पर चल रहे हैं।

इस खेल मेें सरकारी मशीनरी के साथ साथ सफेदपोश नेताओ का बराबर का हाथ है। यहां आलाधिकारियों की घोर लापरवाही का शिकार होकर किसी बड़े हादसे को दावत दे रहा है। विकास प्राधिकरण द्वारा बिना नक्शा पास किए ही यहां लगातार मंजिलो का निर्माण होता रहा है। लेकिन किसी आलाधिकारी ने लिखित शिकायत होने के बाद भी कोई ठोस कार्रवाई नहीं की। अगर यहा कोई घटना घटती है तो उसका जिम्मेदार कौन होगा, यह भी अपने आप में एक बड़ा सवाल है वहीं सी०ओ० सिटी अभय कुमार सिंह से इस मामले की जानकारी ली गई तो उन्होंने बताया कि यह मामला मेरे संज्ञान में आया है इसमें तत्काल ही अवैध निर्माण को रुकवा दिया गया है और आगे से अगर कोई भी इस अवैध निर्माण में कार्य करता है तो उसके खिलाफ तुरंत ही कार्रवाई की जाएगी।

Related Post

जिलाधिकारी दीपेंद्र चौधरी व मेला अधिकारी दीपक रावत ने दीप प्रज्वलित कर किया शोभा यात्रा का शुभारंभ

Posted by - September 5, 2019 0
जिलाधिकारी दीपेंद्र चौधरी व मेला अधिकारी दीपक रावत ने दीप प्रज्वलित कर किया शोभा यात्रा का शुभारंभ हरिद्वार आचार्य जगद्गुरू…

पति की हत्या में पत्नी का हाथ परिवारी जनों का आरोप

Posted by - September 11, 2019 0
Fni news कलम की पहल ●●●●●●●●●●●●●●●●●●● पत्नी ने की पति की हत्या परिवारी जनों का आरोप ●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●●● संवाददाता हरेन्द्र शर्मा…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *