फर्जी आरक्षी बनकर नौकरी करने वाले अभियुक्त गिरफ्तार

607 0

एफ़ एन आई उत्तरप्रदेश ब्यूरो चीफ प्रतीक जायसवाल


विरेन्द्र चड्ढ़ा
जनपद गारेखपुर से फर्जी आरक्षी बनकर नौकरी करने वाले 01 अभियुक्त को एस0टी0एफ0 ने किया गिरफ्तार।

दिनांक- 18.11.2019 को एस0टी0एफ0, उत्तर प्रदेश, लखनऊ को फर्जी सिपाही बनकर, सिपाही की वर्दी पहनकर स्वंय को आरक्षी बताकर ड्यूटी करने वाले एक व्यक्ति को जनपद गोरखपुर से गिरफ्तार करने में उल्लेखनीय सफलता प्राप्त हुई।
गिरफ्तार अभियुक्त का विवरण-
1- अजय कुमार चतुर्वेदी पुत्र ओकांर नाथ चतुर्वेदी निवासी-लहुरा देवा थाना कोतवाली खलीलाबाद सन्तकबीरनगर हाल पता अनूप के मकान में घोस कम्पनी थाना कोतवाली जनपद गोरखपुर।

बरामदगी-
1. एक अद्द वर्दी जो पहना हुआ था (मय नेम प्लेट, सीटी डोरी, बैच (उ0प्र0पु0), कैप, जूता खाकी मोजा, बेल्ट) एवं दो सेट जाडे की वर्दी।
2. दो अद्द एटीएम कार्ड (मास्टर कार्ड एवं ग्रीन कार्ड)
3. एक अद्द ड्र्ाइविंग लाइसेन्स
4. 02 अद्द मोबाइल
5. 59500/- रूपया जामा तलाशी
6. एक अद्द आधार कार्ड
7. एक अद्द एसबीआई का पासबुक

विगत दिनांे एस0टी0एफ0, उ0प्र0 को सूचना प्राप्त हुई कि एक व्यक्ति सिपाही बनकर, सिपाही की वर्दी पहनकर स्वंय को आरक्षी बताकर जनपद गोरखपुर में ड्यूटी कर रहा है। इस सम्बन्ध में श्री अमिताभ यश, पुलिस महानिरीक्षक, एवं श्री राजीव नरायन मिश्रा, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, एस0टी0एफ, उ0प्र0 द्वारा एस0टी0एफ0 फील्ड इकाई गोरखपुर को अभिसचना सकंलन एवं सत्यापन हेतु निर्देशित किया गया, जिसके अनुपालन में पुलिस उपाधीक्षक, श्री विनोद कुमार सिंह के पर्यवेक्षण मंे श्री सत्य प्रकाश सिंह, निरीक्षक, एस0टी0एफ0 फील्ड इकाई, गोरखपुर के नेतृत्व में अभिसूचना संकलन तथा सत्यापन/जाँच की कार्यवाही प्रारम्भ की गयी।
अभिसूचना संकलन एवं सत्यापन से ज्ञात हुआ कि एक व्यक्ति उपजिलाधिकारी खजनी जनपद गोरखपुर के यहाॅ फर्जी सिपाही बनकर ड्यूटी कर रहा है। इस पर तत्काल प्रतिक्रिया करते हुए दिनांक 18.11.2019 को खजनी तहसील पहंुचकर एस0टी0एफ फील्ड इकाई, गोरखपुर द्वारा उस व्यक्ति को मुखबिर खास से तस्दीक कराते हुए, वर्दी पहने हुए एक व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया गया, जिसके कब्जे से उपरोक्त बरामदगी हुई।
पूछताछ पर गिरफ्तार अभियुक्त अजय कुमार चतुर्वेदी उपरोक्त ने बताया कि मैं सिपाही नहीं हूं। यह भी बताया कि वर्ष 2014 में जनपद सन्तकबीरनगर में तत्कालीन उपजिलाधिकारी घनघटा से सम्पर्क कर यह बताया कि मैं आरक्षी हूँ और पुलिस लाइन से मेरी डयूटी लगी है मैं उनके साथ ड्यूटी करने लगा। वर्ष-2015 में उपजिलाधिकारी घनघटा का स्थानान्तरण सिद्धार्थनगर हो गया, फिर मैं जनपद सिद्धार्थनगर जाकर पूर्व में घनघटा में नियुक्त उपजिलाधिकारी के साथ ड्यूटी करने लगा। जब लोगों को सत्यता का पता चला तो वहाॅ से भाग गया। पुनः वर्ष 2017 में जनपद फैजाबाद में तत्कालीन उपजिलाधिकारी, रूदौली के यहाँ यही बताकर कि पुलिस लाइन से मेरी डयूटी लगी है, उनके साथ ड्यूटी करने लगा। वर्ष 2019 में फरवरी मार्च में तहसील खजनी जनपद गोरखपुर में तत्कालीन उपजिलाधिकारी थे, उनको मैंने बताया था कि जनपद पुलिस लाइन गोरखपुर से मेरी ड्यूटी लगी है फिर उनके स्थानान्तरण के बाद नियुक्त अन्य उपजिलाधिकारी के साथ डयूटी किया। वर्तमान समय में उपजिलाधिकारी, खजनी के साथ आरक्षी के तौर पर ड्यूटी करने लगा। आमदनी और सिपाही की वर्दी पहनकर ड्यूटी करने के सम्बन्ध में पूछा गया तो बताया कि जो व्यक्ति किसी काम से उपजिलाधिकारी के पास आता था उनसे अपना परिचय आरक्षी के तौर पर बताकर उनका काम कराने का झांसा देकर अनुचित लाभ प्राप्त कर लेता था। उल्लेखनीय है कि वह फरवरी 2018 में मैं गिरफ्तार हो गया। जिसके सम्बन्ध में थाना रूदौली जनपद फैजाबाद में अजय कुमार चतुर्वेदी उपरोक्त पर मु0अ0सं0 42/2018 धारा 171/419/420 भादवि0 पंजीकृत है। वर्तमान में जमानत पर है।
गिरफ्तार अभियुक्त के विरूद्ध मु0अ0सं0-252/2019 धारा-171/419/420 भादवि0 थाना खजनी जनपद गोरखपुर पंजीकृत कराया गया। अग्रिम विधिक कार्यवाही स्थानीय पुलिस द्वारा की जा रही है।

Related Post

लूटे गये मोबाइल के साथ अभियुक्त गिरफ्तार

Posted by - September 15, 2019 0
लूटे गये मोबाइल के साथ अभियुक्त गिरफ्तार हरिद्वार थाना कनखल वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक हरिद्वार द्वारा वारन्टियो की गिरफ़्तारी को लेकर…

प्रदेश के समस्त थाने बनेंगे मिनी साईबर थाने मगर कब तक पड़े पूरी न्यूज़

Posted by - May 17, 2019 0
*प्रदेश के समस्त थाने बनेंगे मिनी साईबर थाने* *श्री अशोक कुमार, महानिदेशक अपराध एवं कानून व्यवस्था, उत्तराखण्ड ने बताया कि…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *