कई गांव बाढ़ की चपेट में हजारों की संख्या में पलायन

148 0

FNI NEWS कलम की पहल (यू पी ब्यूरो चीफ प्रतीक जायसवाल)
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~
*उफान पर गंगा गोमती संगम, रिहायशी इलाकों और कई गांवों में घुसा बाढ़ का पानी*
~~~~~~~~~~~~~
सामाजिक कार्यकर्ताओं के दल ने बाढ़ग्रस्त इलाकों का दौरा कर स्थिति का जायजा लिया
~~~~~~~~~~~~~~~
वाराणसी/ गाजीपुर में गंगा, गोमती नदी संगम खतरे के निशान को पार कर गई है. बाढ़ के कारण रिहायशी इलाकों और कई गांवों में पानी घुसने लगा है. इस वजह से सैकड़ों घर डूब रहे हैं. गाजीपुर और वाराणसी सीमा में भी गंगा नदी उफान पर है और सैकड़ों गांव बाढ़ की चपेट में आ गए हैं.

गाजीपुर, वाराणसी में गंगा उफान पर निचले इलाके पानी में डूबे हजारों की संख्या में लोगों का पलायन।

गंगा गोमती संगम के पास के वाराणसी और गाजीपुर जिलों के लगभग एक दर्जन गाँव बाढ़ से प्रभावित हो गये. इस इलाके की करीब 15 हजार की तटीय आबादी बाढ़ से त्रस्त हो गयी है. वाराणसी के विभिन्न सामाजिक संगठनों के कार्यकर्ताओं ने इलाके में जाकर सर्वेक्षण किया और वास्तु स्थिति जानी. कैथी की निषाद बस्ती, तीयर बस्ती, राजजवारी की अनुसूचित बस्ती में बाढ़ का पानी प्रवेश कर गया है. पिपरी, लक्ष्मीसेनपुर और टेकुरी का सम्पर्क पूरी तरह समाप्त हो गया है. कुर्सिया में भी स्थिति गम्भीर है. वहीँ गाजीपुर जिले के गौरहट, तेतारपुर, कुसही, खरौना आदि गाँवो में चारो तरफ से पानी प्रवेश कर चुका है.
इन गावों में प्रशासन द्वारा नाव की व्यवस्था की गयी है , जो लोगों को आस पास के बाजारों तक आने जाने के लिए सुलभ हो रही है. किन्तु अभी दुश्वारियां बहुत हैं. सबसे अधिक दिक्कत पशुओं के चारे की हो रही है, हरे चारे की फसल पूरी तरह डूब गयी है, गाँव में भूंसे की व्यापक कमी हो गयी है. संक्रामक बीमारियों के भी फैलने का खतरा है. बाढ के कारण जहरीले सांप, विच्छू जैसे जहरीले जंतुओं ने भी रहायशी इलाके में शरण ले ली है जिससे लोगो और पालतू जानवरों को खतरा है.
सर्वेक्षण दल ने पाया कि गंगा गोमती इलाके के गाँवों में तत्काल स्वास्थ्य सेवायें उपलब्ध कराने की जरूरत है, पशुओं के चारे और अधिक प्रभावित लोगों के लिए अस्थायी शेल्टर हाउस की जरूरत है. सामाजिक कार्यकर्ताओं के दल में विनय कुमार सिंह, राजकुमार गुप्ता, वल्लभाचार्य पाण्डेय, प्रदीप सिंह, उमाशंकर आदि शामिल रहे।

Related Post

पोस्त की खेती करने वालों की खैर नही 47 लोगों के खिलाफ किया मुकदमा दर्ज

Posted by - May 21, 2019 0
*पोस्त की खेती करने वालों पर पुलिस ने कसी नकेल* *47 लोगों के खिलाफ किया मुकदमा दर्ज* ____________________________________ जनपद उत्तरकाशी…

शिक्षा विभाग की लापरवाही किताबे ना मिलने से बच्चों में छाई मायूसी

Posted by - September 9, 2019 0
शिक्षा विभाग की लापरवाही किताबे ना मिलने से बच्चों में छाई मायूसी आज ग्राम पंचायत कटारपुर राजकीय जूनियर हाई स्कूल…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *