दिव्यांगजनों को मायूस होकर क्यो वापस लौटना पड़ा

144 0

FNI NEWS कलम की पहल
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~
दिव्यांगजनों को उपकरण के लिए बुलाकर गायब रहा संबंधित विभाग
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~
वाराणसी। आराजी लाईन स्थानीय विकास खंड में शुक्रवार को पूर्व सूचना के आधार पर उपकरण के लिए पहुंचे दिव्यांगजनों ने ब्लाक मुख्यालय पर जमकर हंगामा मचाते हुए अपना नाराजगी जताई। सैकड़ों की संख्या में पहुंचे दिव्यांगजनों ने आरोप लगाया कि जब शुक्रवार को उपकरण वितरण नहीं किया जाना था तो फिर बुलाया क्यों गया।

विकास खंड में सहायक उपकरण वितरण संबंधित विभाग के नहीं आने के कारण दिव्यांगजनों को मायूस होकर अपने घर को वापस लौटना पड़ा। बतातें चलें कि दिव्यांगों को जिले से मिली सूचना के आधार पर शुक्रवार को ब्लाक मुख्यालय पर उपकरण आदि वितरण के लिए बुलाया गया था। उपकरण पाने की ललक में कई किलोमीटर दूर , रूपापुर, बेनीपुर, खजुरी, मेहंदीगंज, दरेखू, नरसणा, भवानीपुर, कचनार, बीरभानपुर आदि गांव से सैकड़ों की संख्या में दिव्यांग अपना भाड़ा और किराया खर्च करते हुए ब्लाक मुख्यालय पहुंच गए। जब उन्हें पता चला कि शुक्रवार को सहायक उपकरणो के होने के बावजूद उपकरणों को सेटिंग नहीं होने की वजह से उपकरण नहीं दिया जाएगा तो वे न सिर्फ आक्रोशित हो गए बल्कि हंगामा मचाते हुए नाराजगी पर उतारू हो गए। इस संबंध में जब जिला दिव्यांगज सशक्तिकरण अधिकारी राजेश मिश्रा से बात करने की कोशिश की गई तो उन्होंने फोन नहीं उठाया बीडोओ छुट्टी पर गए थे जब एडीओ एसके प्रमोद कुमार पटेल से बात की गई तो उन्होंने बताया कि शुक्रवार को जिले में कई ब्लाको में वितरण कार्यक्रम होने से ब्लॉक मुख्यालय पर वितरण कर्मियों द्वारा उपकरण वितरण सेटिंग नहीं कर पाये कार्यक्रम अगले सूचना तक स्थगित कर दिया गया है। दिव्यांग जनो को पुनः बुलाकर सहायक उपकरण वितरित किया जाएगा। इस संदर्भ में सामाजिक संगठन कस्तूरबा सेवा समिति के विनोद कुमार ने कहा दिव्यांग जनों को बेवजह परेशान करना उचित नहीं है इन्हें इनके घरों तक सहायक उपकरण पहुंचाया जाए उधर इसकी जानकारी सामाजिक कार्यकर्ता राजकुमार गुप्ता को हुई तो उन्होंने दिव्यांगजन सशक्तिकरण अधिकारी राजेश मिश्रा को मैसेज वे फोन करके इसकी सूचना दिया लेकिन कुछ नहीं हुआ इन्होंने सुबह 9:00 बजे से विकलांग सहायक उपकरण के आस में बैठे हैं दिव्यांग जनो के साथ अमानवीय कृत्य किया गया है इसकी शिकायत आला अधिकारियों को करने चेतावनी भी दी है।